कुलॉम का नियम (Coulomb’s law)

image

कूलम्ब का नियम (Coulomb’s law) विद्युत आवेशों के
बीच लगने वाले स्थिरविद्युत बल के बारे में एक नियम
है जिसे कूलम्ब नामक
फ्रांसीसी वैज्ञानिक ने १७८० के
दशक में प्रतिपादित किया था। यह नियम विद्युतचुम्बकत्व के
सिद्धान्त के विकास के लिये आधार का काम किया। यह नियम
अदिश रूप में या सदिश रूप में व्यक्त किया जा सकता है। अदिश
रूप में यह नियम निम्नलिखित रूप में है-
” दो बिन्दु आवेशों के बीच लगने
वाला स्थिरविद्युत बल का मान उन आवेशों के गुणनफल के
समानुपाती होता है तथा उन आवेशों के
बीच की दूरी के वर्ग
के व्युत्क्रमानुपाती होता है।”

Advertisements

15 thoughts on “कुलॉम का नियम (Coulomb’s law)

  1. I’ve ben browsing onlline greaterr thuan three hours nowadays, yeet I byy
    no means discovrred aany attention-grabbing aryicle lioe yours.
    It’s lkvely price eenough ffor me. In my view, iif all ebmasters
    andd loggers maee excellrnt conyent aas you did, the
    neet wil bbe mucfh more helpful than ever before. Thiis iss a topc thazt is
    near tto mmy heart…Cheers! Exactky where aare your coontact details though?
    I hzve bee surfing onnline more thn 4 hoours today, yyet I never ffound anny inteeresting article
    likje yours. It iis prettty wortyh enouhgh foor me.

    In mmy opinion, if aall webmasterss aand bloggers madde goold content ass yoou did, tthe ijternet wil bbe much more usefful thzn ever before.
    http://www.cspan.net/

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s